जानिए दीपिका कि सफलता का मूल मंत्र, जिसे अपनाकर आप भी बन सकते हैं अपनी लाइफ में सक्सेसफुल



<p>हर किसी की लाइफ में कोई ना कोई गॉडफादर या फिर गुरु होता है, चाहे फिर वो उसका पिता, भाई, दोस्त, बहन या फिर पति ही क्यूं ना हो. जिसकी लाइफ में गॉडफादर नहीं होता है उसे अपने जीवन की जंग को जितने में सही मार्ग दर्शन नहीं मिलता है. ऐसा मानना है हॉट मॉडल और बिंदास एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण का.</p>
<p><strong>आर्दश शिष्य -</strong> मॉडल, बैडमिंटन प्लेयर, या फिर एक एक्ट्रेस ये तीनों गुण होना तो आम बात है, लेकिन इन तीनों में सफलता हासिल कर पाना वो सबके बस कि बात नहीं, वह तो केवल एक अच्छा और आर्दश शिष्य ही कर सकता है. यहां बात हो रही है बॉलीवुड एक्ट्रेस दीपिका कादुकोण की. आज दीपिका इंडस्ट्री में अपनी एक अलग ही पहचान बना चुकी है, जिसका पूरा श्रेय वो अपने गुरु को देती है. उनका कहना है कि उनके गुरु ने उन्हें जो भी शिक्षा दी है, वह उनके लिए अमूल्य है और वो आजीवन अपने गुरु की बातों को ज़हन में रखेंगी.</p>
<p><br /><img src="https://feeds.abplive.com/onecms/images/uploaded-images/2022/06/10/91aefe50aa6d6438ce756f64675b958c_original.jpg" /></p>
<p><strong>कौन है दीपिका के गुरु -</strong> दीपिका के गुरु और कोई नहीं बल्कि उनके पिता प्रकाश पादुकोण है. एक इंटरव्यू के दौरान दीपिका ने बताया कि हर किसी के जीवन में कोई ऐसा होता है जो उन्हें मार्ग दर्शन दिखा सकें, उन्हें सही रास्ते पर चलना सिखा सके, या फिर जीवन में कैसी भी परिस्थति आये उससे मुकाबला करना सिखाए. ये रोल रीयल लाइफ में कोई अच्छे से निभा सकता है तो वह है अपने शिष्य के प्रति सच्ची निष्ठा रखने वाला एक सच्चा गुरु. दीपिका के जीवन में उनके गुरु उनके पिता प्रकाश पादुकोण ही है.</p>
<p><strong>पिता का स्पोर्ट -</strong> दीपिका की निजी लाइफ पहले कभी इतनी नार्मल नहीं थी. उन्हें कई बार लाइफ में तकलीफों का सामना करना पड़ा. फिर वह चाहे उनके करियर से रिलेटेड रही हो या फिर उनके पर्सनल रिलेशन्स को लेकर रही हो. एक समय था जब दीपिका और रणबीर कपूर एक-दूसरे को डेट करते थे. जब तक ये रिलेशन अच्छा चला तबतक दीपिका बेहद खुश थी, लेकिन जब उनका ब्रेकअप रणबीर कपूर से हो गया तब वह डिप्रेशन में चली गई थी. लेकिन उनके गुरु यानी कि उनके पिता ही एक ऐसे शख्स थे जिन्होंने हमेशा उनको हर परिस्थति में संभाला और उन्हें स्पोर्ट किया.</p>
<p><strong>ज़िंदगी की जंग -</strong> दीपिका का मानना है कि उनके पिता उनकी ताकत है और उनके स्पोर्ट के बिना वह जीवन कि कोई भी जंग को जीत नहीं सकती. दीपिका ने अपने पिता कि एक बात कभी नहीं छोड़ी और वो थी स्पोर्टमैनशिप. प्रकाश पादुकोण शुरू से चाहते रहे है कि दीपिका अपनी लाइफ में जो भी काम करें बस उसमें खूब नाम कमाएं. ये दीपिका ने साबित भी कर दिया.</p>
<p>[insta]https://www.instagram.com/reel/CeTaxemJQu_/?utm_source=ig_web_copy_link[/insta]</p>
<p><strong>सफलता का मूलमंत्र -</strong> आज दीपिका की गिनती टॉप कि हीरोइनों में होती है. दीपिका के पिता और बैडमिंटन खिलाड़ी प्रकाश पादुकोण का कहना है कि चैलेंज कितना भी बड़ा हो इंसान को पूरी इमानदारी से उस चैलेंज को पूरा करना चाहिए. क्योंकि छल से जीतकर भले ही कोई नंबर वन बन जाये, पर वह कभी भी सफल नहीं होता. दीपिका ने अपने पिता की इन बातों को ज़हन में अच्छे से उतार लिया है. वह अपनी रोज़ाना कि ज़िंदगी में इसे लागू भी करती है.</p>
<p>[insta]https://www.instagram.com/reel/CdvODc0pDUv/?utm_source=ig_web_copy_link[/insta]</p>
<p>आज दीपिका टॉप की हीरोइन है लेकिन उनके अंदर इस बात का कभी भी गुरूर नहीं आया. यही पहचान होती है एक अच्छे इंसान की. दीपिका हमेशा जीवन जीने में विश्वास रखती है. दीपिका और रणबीर सिंह की कमेस्ट्री तो लोगों ने कई बार ऑनस्क्रिन पर देखी है और खूब पसंद भी कि है. ये तो बात हो गई दीपिका और रणबीर सिंह की रील लाइफ की, लेकिन रीयल लाइफ में रणबीर दीपिका को अपनी ऐंजल मानते है. रणबीर सिंह अपनी मां, बहन और दीपिका को अपनी ऐंजल मानते है. वह कहते है कि उनपर भगवान की कृपा है कि उनकी लाइफ में गॉड ने तीन ऐंजल भेंजी हैं.</p>
<p>&nbsp;</p>



Source link

Share this post


Translate »